Wednesday, 24 July 2019

शायरी 44

शायरी 44


तेरी वादाखिलाफत रोक लेती हैं
मुझे तेरे पास आने से...

वर्ना इस ज़माने की क्या औकात
की रोक ले तुझे पाने से....

Saturday, 4 May 2019

शायरी 43

शायरी

सभी के ख्वाबों से लगभग गायब सा हो गया हूँ मैं।
उनकी बातों में लगभग शायद सा हो गया हूँ मैं। 

Monday, 15 April 2019

शायरी 42

शायरी 


"बहुत कुछ है दिल में कहना चाहता हूँ,
किसी से लिपट कर आज रोना चाहता हूँ।
बहुत रातें बिताई है,
जाग कर मैने
एक रात सुकून से सोना चाहता हूँ।"

Tuesday, 5 February 2019

शायरी 41

शायरी

कमियां तो लाखों है मुझ में !

पर है,तो ख़ूबियाँ भी

बता ए  ढूंढ़ने वाले तुझे मुझमे क्या मिला ?

Thursday, 26 July 2018

शायरी 40

शायरी

आज कल किताबों से हुँ,इतना करीब रिश्तों में।

की चंद लम्हों की नींद लेता हूँ, वो भी किश्तों में।

Thursday, 31 May 2018

शायरी 39

शायरी

तुम्हारे यादों की लाश लिए फ़िरता हूँ।

मैं अपने साथ पूरा शमशान लिए फ़िरता हूँ।।

Saturday, 21 April 2018

शायरी 38

शायरी

मैं तुम्हे भूल जाने की हद्द तक याद करूँगा,
तुम ख्वाबों में भी न आओ में यही फ़रियाद करूँगा।