Saturday, 21 April 2018

शायरी 38

शायरी

मैं तुम्हे भूल जाने की हद्द तक याद करूँगा,
तुम ख्वाबों में भी न आओ में यही फ़रियाद करूँगा।

2 comments: